शनिवार, 25 जून 2011

२४ जून, नाटककार मिलिंद तिखे को भावभीनी श्रद्धांजलि

पिछले सप्ताह इमारात में बसे साहित्यकार और नाट्यकर्मी मिलिंद तिखे हमारे बीच नहीं रहे। वे पिछले कुछ दिनों से से अस्वस्थ थे। विगत २० जूम को उनका देहावसान हो गया।

१९५६ में जन्मे मिलिन्द जी ने अल्पावधि में ही जिस साहित्य की रचना की, उसमें इमारात की सामाजिक एवं सांस्कृतिक पृष्ठभूमि की रोचक झलक देखी जा सकती है। इस सप्ताह की चौपाल दिवंगत मित्र को श्रद्धांजलित अर्पित करने के लिये जुटी। इस अवसर पर स्थायी सदस्यों के अतिरिक्त मिलिंद जी के अनेक आत्मीय, मित्र, सहयोगी एवं नाट्यकर्मी उपस्थित रहे। सभा के आरंभ में दो मिनट का मौन रखा गया, उनसे संबंधित भावभीने संस्मरण सुनाए गए और उनकी रचनाओं के संग्रह को प्रकाशित करने का संकल्प लिया गया। अंत में सबने उनके चित्र के साथ एक समूह फोटो खिंचवाया।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें