रविवार, 4 जनवरी 2009

९ जनवरी को दस्तक का मंचन


यह सप्ताह हम सबके लिए विशिष्ट है क्यों कि इस सप्ताह से एक विशेष शृंखला का आरंभ हो रहा है। शृंखला है नाट्य-उत्सव की, जिसके अंतर्गत कुछ थियेटर समूह मिलकर दुबई में हर माह लगभग एक घंटे की एक प्रस्तुति देंगे। इसके लिए एक छोटा थियेटर ढूँढा है जिसमें ७०-८० लोगों के बैठने की व्यवस्था है।

९ जनवरी को पहले नाटक दस्तक का मंचन होगा जो थियेटरवालाज़ की ओर से है। नाटक का विषय तो इतना अनोखा नहीं पर इसके प्रतिपादन (ट्रीटमेंट) में नयापन है। दो लेखकों को एड्स पर एक नाटक लिखने का अनुबंध मिलता है। नाटक में क्या लिखा जाए, क्या दृश्य हों, क्या कहानी हो इन्हीं सब बातों पर चर्चा करते हुए नाटक उनके जीवन में प्रवेश कर जाता है। वे लेखक होते हुए भी नाटक के पात्रों का दर्द महसूस करते हैं और उनकी संवेदनाओं में बहते उतरते हैं।

पहले शो में प्रवेश मुफ़्त है यानी टिकट नहीं है, तो दुबई और आसपास के लोग इसमें आराम से आ सकते हैं। नाटक दुबई के वर्सिलीज़ होटल में स्थित अबू नवाज़ क्लब के मंच पर दोपहर चार बजे से शुरू होगा। कलाकार है प्रकाश सोनी और कौशिक साहा। विशेष विवरण के लिए दाहिनी ओर के चित्र को क्लिक करें। इसमें नाटक के विषय में विस्तृत जानकारी दी गई है। (शुक्रवार के सभी सक्रिय सदस्यों से यहाँ भेंट की जा सकती है और अगर आप भी साहित्य या नाटक में रुचि रखते हैं तो हमारी टीम के सदस्य बन सकते हैं।)

दस्तक के मंचन के उपलक्ष्य में शारजाह में सुबह 10:30 बजे होने वाली गोष्ठी 9 जनवरी को नहीं होगी।

यह भी देखें


1 टिप्पणी:

  1. पूर्णिमा जी

    दस्तक की सफलता के लिये लन्दन से कथा यू.के. की शुभकामनाएं।

    तेजेन्द्र शर्मा

    उत्तर देंहटाएं