शुक्रवार, 9 जनवरी 2009

९ जनवरी की प्रस्तुति- दस्तक


9 जनवरी की शुक्रवार चौपाल वर्सिलीज़ होटल के अबू शगारा क्लब में लगी जहाँ कुछ विशेष अतिथियों के सामने थियेटरवाला की ओर से दस्तक नाटक का मंचन किया गया। अतिथियों का स्वागत और कार्यक्रम का संचालन डॉ. शैलेश उपाध्याय ने किया। मुख्य अतिथि लंदन निवासी प्रवासी कथा लेखिका ज़किया ज़ुबैरी इस कार्यक्रम के लिए विशेष रूप से पधारी थीं। मैंने उन्हें दर्शकों से मिलवाया और सबसे उनका परिचय करवाया। नाटक से पहले मुहम्मद अली द्वारा ज़किया जी की कहानी मारिया के भाव-पाठ ने दर्शकों को मुग्ध कर दिया।
इसके बाद दस्तक का मंचन हुआ। गंभीर प्रकृति के इस एक घंटे लंबे नाटक में दो एक दृश्य ऐसे भी थे जो दर्शकों के चेहरों पर मुस्कान ले आए। 70-75 दर्शकों की क्षमता वाला यह हाल दर्शकों से पूरा भरा था। सीमित साधनों वाले इस मंच पर प्रकाश, सेट और संगीत की व्यवस्था सुरुचिपूर्ण रही। नाटक के बाद आधे-घंटे का समीक्षा सत्र भी हुआ जिसमें दर्शकों ने कहानी और नाटक से संबंधित प्रश्न पूछे, सुझाव दिए और विचार प्रस्तुत किए। कहानी से संबंधित प्रश्नों के उत्तर लेखिका ज़किया जी ने दिए और नाटक से संबंधित प्रश्नों के उत्तर अभिनेता व निर्देशक प्रकाश सोनी ने। दर्शकों द्वारा मुहम्मद अली के कथा-पाठ और दस्तक के अभिनय की भूरि भूरि प्रशंसा की गई। कार्यक्रम के अंत में सबके लिए चाय की व्यवस्था की गई थी। कार्यक्रम के चित्र बाईं ओर स्लाइड शो में देखे जा सकते हैं।

9 टिप्‍पणियां:

  1. purnimaji,
    abhee meine Abu Shagara Hotel mein aayojit shukravaar chaupal kee report padhee. zakiaji ki kahani Maria sach meiN bahut acchi aur zindagi ki sacchaiyeoN ke kai aayam hamare saamne ujaagar kartee hai.

    aapko iss safal chaupal ke liye badhai aur zakiyaji ka aabhar ki oonhone itnee doorjakar mukhya atithi banana sweekar kiya.

    madhu, mumbai.

    उत्तर देंहटाएं
  2. कार्यक्रम की सफलता के लिए बधाई। आपसे हमेशा ऐसी ही आशा रहती है।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    मुश्किलों से भागने की अपनी फितरत है नहीं।
    कोशिशें गर दिल से हो तो जल उठेगी खुद शमां।।
    www.manoramsuman.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  3. पूर्णिमा जी, आपके इस ब्लॉग पर पहली बार आया हूँ और बहुत अच्छा लगा है। आगे भी देखता रहूँगा।
    -सुभाष नीरव

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर...आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है.....आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे .....हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. मेरे मित्र
    अभिवंदन
    आप द्वारा लिखित बातो ने मेरे दिल को छु लिया। अति सुन्दर॥॥॥।
    मेरे ब्लोग को देखे।

    उत्तर देंहटाएं
  6. ब्लोगिंग की दुनिया में आपका स्वागत है. मेरी कामना है की आपके शब्दों को नई ऊंचाइयां और नए व गहरे अर्थ मिलें और विद्वज्जगत में उनका सम्मान हो.
    कभी समय निकाल कर मेरे ब्लॉग पर एक नज़र डालने का कष्ट करें.
    http://www.hindi-nikash.blogspot.com

    सादर-
    आनंदकृष्ण, जबलपुर.

    उत्तर देंहटाएं